दिल्ली विधानसभा में मार्शलों ने भाजपा के 4 विधायक निकाले: विपक्ष का आरोप- मणिपुर विधानसभा का विषय नहीं, सरकार के हर विभाग में भ्रष्टाचार

  • Hindi News
  • National
  • “Manipur Does Not Matter”: Chaos In Delhi Assembly Over BJP MLA’s Remark

नई दिल्ली2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

डिप्टी स्पीकर राखी बिड़ला और भाजपा विधायको में तीखी बहस हूई।

दिल्ली विधानसभा में मार्शलों ने गुरुवार (17 अगस्त) को BJP के विधायकों को सदन से बाहर निकाल दिया। सदन में मणिपुर पर चर्चा हो रही थी। BJP विधायकों का कहना था कि दिल्ली विधानसभा का मुद्दा मणिपुर नहीं है। दिल्ली सरकार के हर विभाग में भ्रष्टाचार है।

इस दौरान भाजपा विधायक अभय वर्मा, जितेंद्र महाजन, अजय महावर और ओपी शर्मा को मार्शलों सदन से बाहर कर दिया।

इससे पहले BJP विधायकों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दफ्तर के सामने प्रदर्शन भी किया था।

इससे पहले BJP विधायकों ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के दफ्तर के सामने प्रदर्शन भी किया था।

AAP विधायक दुर्गेश पाठक ने मणिपुर पर चर्चा शुरू की

विधानसभा में सदन की कार्यवाही की सूची के मुताबिक दुर्गेश पाठक, विनय मिश्रा और कुलदीप कुमार में मणिपुर में हो रही हिंसा पर अल्पकालिक चर्चा शुरू की। चर्चा शुरू होते ही भाजपा विधायक इस चर्चा के विरोध में खड़े हो गए। उन्होंने कहा कि दिल्ली विधानसभा में दिल्ली से जुड़े मुद्दों पर बहस होनी चाहिए।

डिप्टी स्पीकर बोली- UP विधानसभा में भी मणिपुर पर चर्चा हुई थी

डिप्टी स्पीकर राखी बिड़ला ने भाजपा विधायकों से सवाल पूछते हुए कहा कि क्या आपको लगता है कि मणिपुर विधानसभा में चर्चा का मुद्दा नहीं है। उत्तर प्रदेश विधानसभा में भी मणिपुर के मुद्दे पर चर्चा हुई है।

करवाल नगर विधानसभा के भाजपा विधायक मोहन सिंह बिष्ट ने कहा कि अन्य राज्यों से हमें फर्क नहीं पड़ता। इस पर डिप्टी स्पीकर बोलीं- सुबह से दिल्ली के मुद्दों पर चर्चा हो रही है। क्या इसके लिए विपक्ष चर्चा में गंभीर दिखाई दे रहा है। इसके बाद भी विपक्ष अपनी मांग पर अड़ा रहा।

AAP विधायक पाठक बोले- BJP मणिपुर पर चर्चा नहीं करना चाहती

AAP विधायक दुर्गेश पाठक विपक्ष के इस रवैये पर बोले कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि भाजपा इस मुद्दे पर बोलना नहीं चाहती। इस दौरान AAP नेताओं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र के खिलाफ नारेबाजी भी की। इसके बाद भाजपा विधायकों को मार्शलों को सदन से बाहर कर दिया।

मानसून सत्र की शुरुआत होने से पहले PM मोदी ने कहा था- मेरा हृदय आज पीड़ा और क्रोध से भरा है। मणिपुर की घटना किसी भी सभ्य समाज के लिए शर्मसार करने वाली घटना है।

मानसून सत्र की शुरुआत होने से पहले PM मोदी ने कहा था- मेरा हृदय आज पीड़ा और क्रोध से भरा है। मणिपुर की घटना किसी भी सभ्य समाज के लिए शर्मसार करने वाली घटना है।

प्रधानमंत्री ने अविश्वास प्रस्ताव पर जवाब देते हुए कहा- ये इंडिया नहीं, घमंडिया गठबंधन

प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान 92 मिनट के बाद मणिपुर पर बात की थी।

प्रधानमंत्री मोदी ने लोकसभा में अविश्वास प्रस्ताव के दौरान 92 मिनट के बाद मणिपुर पर बात की थी।

प्रधानमंत्री पूरी खबर पढ़ें…

आप ये खबरें भी पढ़ सकते है…

केजरीवाल ने पूछा- मणिपुर पर PM चुप क्यों, कहा- बेटियों की इज्जत लुटे और पिता समान प्रधानमंत्री कहे हमें मतलब नहीं तो बेटियां कहां जाएंगी

अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मणिपुर में महिलाओं को निर्वस्त्र कर घुमाया गया। लोगों ने उनके साथ गलत किया। सबने इसकी निंदा की, लेकिन PM मोदी चुप रहे। देश का PM तो पिता के समान होता है, लेकिन बेटियों की इज्जत लुट रही हो और बाप कहे कि हमें इससे कोई लेना-देना नहीं, तो बेटियां कहां जाएंगी। पूरी खबर पढ़ें…

राहुल बोले- PM मणिपुर को जलाना चाहते हैं, बचाना नहीं, 2 घंटे के भाषण में मणिपुर पर सिर्फ 2 मिनट बोले

संसद का मानसून सत्र 11 अगस्त को खत्म हो गया। इसके बाद दोपहर करीब 3 बजे राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इसमें मुख्य मुद्दा मणिपुर ही रहा। राहुल महज 20 मिनट बोले। राहुल ने सरकार पर सीधा आरोप लगाया कि PM मणिपुर को जलाना चाहते हैं, बचाना नहीं। संसद में 2 घंटे के अपने भाषण में वे मणिपुर पर सिर्फ 2 मिनट बोले। ये शोभा नहीं देता। पूरी खबर पढ़ें…

खबरें और भी हैं…