ISI का एजेंट गिरफ्तार: पाकिस्तान को भेज रहा था सेना के फोटो, 6 दिन पहले पाकिस्तान की जेल से छूटकर आया था

शामलीएक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

STF मेरठ की टीम ने गुरुवार को शामली से ISI एजेंट को गिरफ्तार किया है। पकड़ा गया कलीम 12 अगस्त को ही अपनी मां आमना और पिता नफीस के साथ पाकिस्तान जेल से रिहा होकर शामली लौटा था। ये लोग अवैध पिस्टल रखने के मामले में पकिस्तानी जेल में 23 जुलाई, 2022 से बंद थे।

कलीम के पास से दो मोबाइल फोन और उर्दू में लिखे हुए कुछ संदिग्ध मैसेज के साथ पेपर बरामद हुए हैं। साथ ही 5 ग्रुप की वॉट्सऐप चैट भी मिली है। कलीम नोकुआं रोड का रहने वाला है। पुलिस ने उसके खिलाफ FIR दर्ज की है। कलीम का भाई तस्लीम पहले ही जाली करेंसी और पाकिस्तान से आतंकवादी गतिविधियों में गिरफ्तार हो चुका है।

यह फोटो पकड़े गए आरोपी कलीम की है, जिसको STF ने गिरफ्तार कर लिया है।

यह फोटो पकड़े गए आरोपी कलीम की है, जिसको STF ने गिरफ्तार कर लिया है।

भारत सेना के फोटोग्राफ भेजता था पकिस्तान
SSP अभिषेक कुमार ने बताया कि मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर STF ने कार्रवाई की। टीम ने 6 दिन पहले ही पाकिस्तान की जेल से छूट कर आए शामली के नोकुआं के रहने वाले नफीस के बेटे कलीम को हिरासत में लिया। उससे पूछताछ की गई, तो उसने खुद के ISI आतंकी संगठन से जुड़े होने की बात स्वीकार की। जांच में सामने आया है कि कलीम अपने भाई तस्लीम के साथ ISI के सदस्यों को वॉट्सऐप पर भारत सेना के फोटोग्राफ भेजते थे। प्राप्त मोबाइल नंबरों का आईपी एड्रेस भी लाहौर शहर का पाया गया है।

एसएसपी अभिषेक कुमार ने बताया कि कलीम के पास से आर्मी के ऑफिसर जवानों के फोटो, राफेल के फोटो, अखंड भारत का फोटो और कुछ अखबारों की कटिंग भी बरामद हुए हैं।

एसएसपी अभिषेक कुमार ने बताया कि कलीम के पास से आर्मी के ऑफिसर जवानों के फोटो, राफेल के फोटो, अखंड भारत का फोटो और कुछ अखबारों की कटिंग भी बरामद हुए हैं।

भारत में मुजाहिद्दीन की जमात बनने की थी तैयारी
जांच में सामने आया है कि कुछ व्यक्तियों के समूह अलग-अलग शहरों में आपराधिक षडयंत्र के तहत आम जनता पर अवैध हथियारों से हमले की योजना के उद्देश्य से काम कर रहे हैं। यही नहीं, लोगों को भारत में जिहाद फैलाने के प्रति प्रेरित किया जा रहा है। आरोपी भारत में मुजाहिद्दीन की जमात बनने की तैयारी में थे।

आरोपी के पास से STF को आर्मी ऑफिसर के फोटो, राफेल के फोटो, अखंड भारत का फोटो और कुछ अखबारों की कटिंग के फोटो भी मिले हैं। पकड़े गए आरोपी के फोन में पाकिस्तान स्थित लोगों के मोबाइल नंबरों का भी वॉट्सऐप चैट भेजना पाया गया है।

ISI ने दिया था कुछ रुपयों का लालच
SSP का कहना है कि पूछताछ में पता चला है कि आरोपी कलीम अक्सर पाकिस्तान अपनी बुआ के यहां जाता रहता था। उसकी ISI के कुछ हैंडलरों और सदस्यों से जान पहचान थी। रुपयों का लालच देकर ISI ने उसे फंसा लिया था। कहा था कि तुम्हें हथियार, गोला-बारूद दिया जाएगा। भारत के विभिन्न स्थानों पर दंगा कराओ, ताकि भारत में शरीयत कानून के तहत नए सिस्टम को स्थापित कर भारत को इस्लामिक राष्ट्र बनाया जा सके। वहीं पुलिस ने संबंधित धाराओं में मामला दर्ज कर आगे की वैधानिक कानूनी कार्रवाई शुरू कर दी है।

इस खबर को भी पढ़ें…

यूपी ATS ने महिला समेत 5 नक्सली पकड़े: नक्सल संगठन के विस्तार की कर रहे थे प्लानिंग; बिहार के मधुबन बैंक डकैती में शामिल थी नक्सली तारा

यूपी एटीएस ने मंगलवार को बलिया से महिला समेत पांच नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। ये सभी मुखौटा संगठनों के जरिए अपने नक्सली संगठन का विस्तार करने और पूर्वांचल में गतिविधियां बढ़ाने के लिए गोपनीय बैठक कर रहे थे। सभी को सहतवार थानाक्षेत्र के बसंतपुर गांव में संगठन की मीटिंग करते वक्त पकड़ा गया है। इसकी सूचना मिलते ही एटीएस ने छापा मारकर बलिया की रहने वाली तारा देवी, लल्लू राम, सत्य प्रकाश, राममूरत और विनोद साहनी को गिरफ्तार कर लिया। इनके पास से प्रतिबंधित संगठन सीपीआई (माओवादी) से संबंधित साहित्य, दस्तावेज, पम्पलेट, सात मोबाइल, 9 एमएम पिस्टल और कारतूस बरामद किया गया है। पढ़ें पूरी खबर…

खबरें और भी हैं…